emblem

रक्षा लेखा प्रधान नियंत्रक (सी. स.)

broemb

Principal Controller Defence Accounts (Border Roads)

रक्षा मंत्रालय, भारत सरकार

Ministry of Defence, Govt of India

आरटीआई
कार्यालयरक्षा लेखा प्रधान नियंत्रक ( सी स) दिल्ली छावनी-10

सूचना अधिकार अधिनियम, 2005 (आर टी आई)  

1. सूचना अधिकार  का क्या अभिप्राय है ?

इसमें निम्नलिखित अधिकार शामिल  हैं :-

(i) कार्यों, दस्तावेजों, अभिलेखों का निरीक्षण ।

(ii) टिप्पणियों , दस्तावेजों अथवा अभिलेखों की प्रमाणित प्रतियां प्राप्त करना ।

(iii) सामग्री के प्रमाणित नमूने प्राप्त करना ।

(iv) मुद्रित,डिस्क,फ्लापी,टेप,विडियोकैसेट अथवा अन्य इलैक्ट्रानिक रुप में अथवा प्रिंट के रुप में सूचना प्राप्त करना ।  

2. सूचना का अभिप्राय क्या है ?

सूचना से अभिप्राय, अभिलेख,दस्तावेज मैमो, -मेल, अभिमत,सलाह,प्रैस विज्ञप्ति,परिपत्र,आदेश, लागबुक, संविदा,रिपोर्ट,पेपर,नमूने,प्रारुप,डाटा सामग्री सहित किसी भी इलैक्ट्रानिक रुप में रखी गई किसी भी सामग्री तथा किसी भी निजी निकाय से संबंधित सूचना, जो किसी अल्पकालिक कानून के अधीन किसी लोक प्राधिकरण से प्राप्त की जा सके, से है ।  

3. सूचना प्राप्ति के अनुरोध के आवेदन की क्या प्रक्रिया है?

अपेक्षित  सूचना से संबंधित विवरण  को दर्शाते हुए हिन्दी या अंग्रेजी में किसी सादे पेपर पर लिखित रुप में  अथवा इलैक्ट्रानिक माध्यम से 10 रुपए के शुल्क, नकद जमा की रसीद या डिमांड ड्राफ्ट अथवा बैंकर चैक, जो रक्षा लेखा महानियंत्रक, नई दिल्ली के पक्ष में देय हो, के साथ केन्द्रीय लोक सूचना अधिकारी को आवेदन पत्र दिया जा सकता है । किसी सूचना को प्राप्त करने के लिए आवेदक द्वारा कोई कारण अथवा व्यक्तिगत विवरण बताना अपेक्षित नहीं है , केवल उनको छोड़कर जो उससे संपर्क करने के लिए आवश्यक है ।

4. शुल्क

(i) खंड-6 के उपखंड (1) के अधीन सूचना प्राप्त करने के लिए आवेदन शुल्क 10 रुपए है;

(ii) खंड-7 के उपखंड(1) के अधीन सूचना उपलब्ध कराने के लिए निम्नानुसार शुल्क लिया जाएगा; 

. प्रत्येक निर्मित या कापी किए गए पृष्ठ के (-4 या ए-3 आकार के) लिए दो रुपए;

. बड़े आकार के पृष्ठ में प्रति के लिए उसकी वास्तविक कीमत;

. नमूनों अथवा माड्ल्स की वास्तविक लागत या कीमत तथा

. अभिलेखों की जांच के लिए पहले घंटे के लिए कोई शुल्क नहीं तथा प्रत्येक अनुवर्ती घंटे ( या उनके खंड) के लिए 5 रुपए; 

(iii) खंड-7 के उपखंड(5) के अधीन सूचना उपलब्ध कराने के लिए शुल्क निम्नानुसार लिया जाएगा: 

. डिस्क या फ्लापी में सूचना उपलब्ध कराने के लिए प्रति डिस्क या फ्लापी 50 रुपए:

. प्रकाशन के लिए निर्धारित कीमत या मुद्रित रुप में सूचना उपलब्ध कराने के लिए प्रति पृष्ठ(फोटो प्रति के) दो रुपए ।  

(iv) गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले व्यक्तियों से कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा, तथा

(v) यदि केन्द्रीय लोक सूचना अधिकारी निर्धारित अवधि में सूचना प्रदान करने में असफल रहता है तो आवेदक को सूचना नि: शुल्क उपलब्ध कराई जाएगी ।  
 
 

5. सूचना प्रदान करने की समय सीमा 

(i) आवेदन करने की तारीख से 30 दिन के भीतर

(ii) व्यक्ति के जीवन तथा आजादी से संबंधित सूचना 48 घंटे के भीतर

(iii) विहित अवधि में सूचना उपलब्ध न कराने को मना करना समझा जाएगा ।  

सूचना अधिकार अधिनियम, 05 की धारा 4(बी) (16)

 
6. केन्द्रीय लोक सूचना अधिकारी का विवरण  
 
श्री
देवरा, भा.र.ले.से.
 
रक्षा लेखा
उप नियंत्रक ( सी.स.)
 
कार्यालय
,रक्षा लेखा प्रधान नियंत्रक ( सी स) 
सीमा सड़क भवन,नारायणा,दिल्ली छावनी-10

सूचना अधिकार अधिनियम की धारा 4 (बी)(17)

 
7.
अपीलीय प्राधिकारी का विवरण

श्री  बनवारी स्वरूप, भा.र.ले.से.  
रक्षा लेखा प्रधान नियंत्रक ( सी.स.)
 
कार्यालय
,रक्षा लेखा प्रधान नियंत्रक ( सी स) 
सीमा सड़क भवन,नारायणा,

दिल्ली छावनी-10 
दूरभाष- 011-25690977

सूचना अधिकार अधिनियम,05 की धारा 4 (बी) (I) (II) (III)

 

8. संगठन एवं ढांचा

रक्षा लेखा प्रधान नियंत्रक (सी.स.) सीमा सड़क के व्यय से संबंधित आंतरिक लेखापरीक्षा तथा लेखांकन के सभी मामलों में मुख्य प्राधिकारी के रुप में कार्य करता  है।   रक्षा लेखा प्रधान नियंत्रक कार्यालय सभी ले अ (प)/ले अ(कृ ब),र ले नि ( सी स) गुवाहाटी, र ले सन्युक्त नियन्त्रक( सी स) चन्डीगढ़ और वेतन लेखा कार्यालय ( ग्रेफ) पुणे का मुख्यालय कार्यालय है । रक्षा लेखा प्रधान नियंत्रक 02 रक्षा लेखा उप नियंत्रकों, लेखा कार्यालय/परियोजनाओ के 15सहायक/उप नियंत्रकों , 01 एकीकृत वित्तीय सलाहकार तथा सीमा सड़क संगठन से संबंधित कार्य देखने वाले 34 लेखा अधिकारियों की सहायता से विभाग का संचालन करते है ।

 

लक्ष्य-(मिशन) - लेखांकन एवं वित्तीय सेवाओं तथा  लेखापरीक्षा  कार्यों  में उत्कृष्टता  एवं व्यवसायिकता  प्राप्त करने  का प्रयास करना ।

 

उद्देश्य- सुनिश्चित करना कि (i) रक्षा लेखा विभाग के क्रियाकलाप, सरकार की नीति के अनुसार रक्षा सेवाओं के लेखांकन, आंतरिक लेखापरीक्षा एवं वित्तीय सलाह के लिए निरुपित हैं: (ii) लेखांकन,आंतरिक लेखापरीक्षा तथा वित्तीय सलाह के क्षेत्र में कार्यों के दक्ष निष्पादन के लिए विभाग द्वारा पर्याप्त एवं अद्यतन प्रक्रियाएं अपनाई गई हैं तथा (iii) आधुनिक प्रबंधन अवधारणा के अनुसार कार्मिकों द्वारा दक्ष कार्य निष्पादन के लिए उचित योजना बनाई गई है । इसके कार्य निष्पादन के मानक इस प्रकार तय किए गए हैं कि यह अपने मिशन एवं उद्देश्य को व्यवसायिक रुप में प्राप्त कर सकें । रक्षा लेखा महानियंत्रक अपने कर्तव्यों का निर्वहन प्रधान एकीकृत वित्तीय सलाहकारों/वित्त एवं लेखा नियंत्रकों के माध्यम से करता है ।

 

कर्तव्य एवं दायित्व -

  • विभाग में उचित प्रशासन एवं दक्ष कार्य  निष्पादन को सुनिश्चित  करना
  • लेखे की आंतरिक लेखापरीक्षा, लेखा एवं लेखापरीक्षा प्रक्रिया, प्राप्ति एवं प्रभारों का वर्गीकरण आदि के रखरखाव से संबंधित मामलों में ले अ (प)/ले अ(कृ ब),र ले नि ( सी स) गुवाहाटी, र ले सन्युक्त नियन्त्रक( सी स) चन्डीगढ़ और वेतन लेखा कार्यालय ( ग्रेफ) पुणे को आवश्यक  अनुदेश  जारी  करना ।
  • रक्षा लेखा विभाग द्वारा की जाने वाली आंतरिक लेखापरीक्षा ( नियंत्रक एवं महालेखापरीक्षक  की ओर से डी जी ए डी एस द्वारा की जाने वाली सांविधिक लेखापरीक्षा  में नहीं) के दौरान उठाए गए  संदिग्ध बिंदुओं पर लेखापरीक्षा  विनिर्णय देना ।
  • रक्षा व्यय से संबंधित लेखापरीक्षा एवं लेखा प्रक्रिया के सभी प्रश्नों पर आवश्यकतानुसार सरकार को सलाह देना ।
  • सभी एकीकृत वित्तीय सलाहकारों के क्रियाकलापों के संबंध में समग्र नियंत्रण, पर्यवेक्षण, एवं समन्वय प्रदान करना । एकीकृत वित्तीय सलाहकार प्रणाली का उद्देश्य, सक्षम प्राधिकारी को प्रदत्त शक्तियों को प्रदत्त शक्तियों का अनुप्रयोग करने के लिए वित्तीय आदान प्रदान करना और उन पर निर्णय लेना है ताकि फील्ड में तैनात बलों को अधिकतम संतुष्टि प्रदान की जा सके । एकीकृत  वित्तीय सलाहकार सक्षम वित्तीय सलाहकार  के अधिकार क्षेत्र के अधीन सभी वित्तीय मामलों पर सलाह प्रदान करते हैं, विभिन्न टी पी सी/पी एन सी में भाग लेते हैं, बजट बनाने तथा व्यय की निगरानी में सहायता करते हैं, ड्राफ्ट लेखापरीक्षा पैरा प्रक्रिया की निगरानी तथा वित्तीय बाधाओं वाले सभी प्रस्तावों की संवीक्षा/सहमति प्रदान करते हैं ।
  • कार्मिक प्रबंधन से संबंधित सूचना का अद्यतन तथा संगत रखरखाव पूरे विभाग के लिए अधिकारियों तथा स्टाफ की आवश्यकता  का आंकलन तथा आवश्यकतानुसार  उन की  विभिन्न  कार्यालयों  में तैनाती  करना ।
  • सभी ले अ (प)/ले अ(कृ ब),र ले नि ( सी स) गुवाहाटी, र ले सन्युक्त नियन्त्रक( सी स) चन्डीगढ़ और वेतन लेखा कार्यालय ( ग्रेफ) पुणे   की आवश्यकता  के अनुसार  निधि का समन्वय, विभाग के लिए बजट तैयार करना ।
  • नियंत्रकों  को बजट का आबंटन करना तथा उसके उपयोग पर निगाह रखना । मुख्यालय कार्यालय सहित रक्षा लेखा विभाग के सभी कार्यालयों  का  नियमित रुप से निरीक्षण ।
  • रक्षा सेवा प्राप्तियों एवं प्रभारों के समन्वित तुलन खाते तैयार  करना  तथा  उसे  महानिदेशक, लेखापरीक्षा, रक्षा सेवाए  को भेजना ।
  • रक्षा लेखापरीक्षा कोड में निर्धारित विनियोजन लेखों से संबंधित विवरण तैयार करना  तथा उन्हें रक्षा लेखा महानियंत्रक कार्यालय को प्रस्तुत करना  तथा रक्षा लेखा महानियंत्रक कार्यालय को वार्षिक रुप से लेखापरीक्षा  प्रमाणपत्र  प्रस्तुत  करना ।
  • रक्षा मंत्रालय के सिविल अनुमानों  के लिए प्रधान लेखांकन अधिकारी के रुप में कार्य करना और उक्त अनुमानों  के विनियोजन लेखे तैयार करना ।
  • सिविल अनुमानों के संबंध में केन्द्रीय  लेनदेन  का  विवरण तैयार करना और इसे महा लेखा नियंत्रक को भेजना ।
  • रक्षा सेवाओं से संबंधित संयुक्त वित्त एवं राजस्व लेखे तैयार करना  तथा  केन्द्र एवं राज्य सरकारों के संयुक्त वित्त एवं राजस्व लेखे में जोड़े जाने हेतु इसे नियंत्रक एवं महा लेखापरीक्षक को प्रस्तुत करना ।                                                                        

 

रक्षा लेखा विभाग के अधिकारियों के सामान्य कर्तव्य कार्यालय नियम पुस्तिका भाग-1 के परिशिष्ट-क में दिए गए हैं।रक्षा लेखा प्रधान नियंत्रक(सी.स.) कार्यालय के अधिकारियों द्वारा अनुप्रयोग की जाने वाली प्रशासनिक एवं वित्तीय शक्तियां सरकारी विनियमावली, कार्यालय नियम पुस्तक तथा उनके संबंध में समय-समय पर जारी आदेशों द्वारा व्युत्पन्न होती है ।

दर्शक सं: 2025 Visitors2025 Visitors2025 Visitors2025 Visitors2025 Visitors
 
प्रकाशनाधिकृत- 2009 रक्षा लेखा प्रधान नियंत्रक, सीमा सड़क सर्वाधिकार सुरक्षित
घोषणा: इस बेवसाइट पर दी गई सूचना संगत सरकारी आदेशों, सेना निर्देशों एवं सेना आदेशों पर आधारित है | तथापि इस बेवसाइट की विषय वस्तु /तथ्यों को रक्षा लेखा प्रधान नियंत्रक (सी.स.) नई दिल्ली के कार्यालय और अन्य किसी संगठन के साथ पत्र व्यवहार के लिए प्राधिकार के रूप में उद्धृत नहीं किया जा सकता है | इस बेवसाइट का सरî